MENU
Breaking News

पूर्वांचल

चंदौली

सेंट् अल हनीफ एजुकेशनल सेंटर शौर्य दिवस पर चर्चा

सेंट् अल हनीफ एजुकेशनल सेंटर सेमरा चंदौली में शौर्य दिवस पर चर्चा करते हुए सीआरपीएफ के द्वारा किए गए सराहनीय कार्यों का वर्णन करते हुए तथा देश भक्ति भावनाओं को उकेरते हुए नरेंद्र पाल सिंह कमांडेंट सीआरपीएफ ने डिफेंस के महत्व पर चर्चा किया। उन्होंने बच्चों को वर्तमान बॉर्डर के हालात का चर्चा करते हुए ड्रेस कोड के अंतर को समझाया और बच्चों को एक पेशे के तौर पर फौज में जाने की प्रेरणा दी ।उन्होंने अपने संबोधन में सीआरपीएफ के विशेष योगदान की चर्चा करते हुए कहा कि सीमा से लेकर नक्सलवाद प्रभावित क्षेत्र, संसद की सुरक्षा एवं वी वीआईपी की सुरक्षा में इस फोर्स का योगदान रहता है।

तुलसी गुप्ता कक्षा 11 की छात्रा ने अपनी जिज्ञासा व्यक्त करते हुए इस फोर्स में भर्ती होने की प्रक्रिया तथा योगदान के बारे में पूछा तथा अदीबा ने ब्लैक कमांडो के बारे में पूछा जिसके बारे में उन्होंने विस्तृत वर्णन करते हुए विद्यालय एवं बच्चों की भूरी भूरी प्रशंसा की। इस कार्यक्रम में के डीत्रिपाठी ,उपांशु सिन्हा, मुसाहीब अली , इम्तियाज अहमद, सुजीत गुप्ता, आशुतोष श्रीवास्तव, आसिफ अली , अमीत सिन्हा आदि लोग उपस्थित रहे ।धन्यवाद ज्ञापन विद्यालय के प्रबंध निदेशक हाजी वसीम अहमद तथा संचालन बी राम ने किया।

 

मिर्ज़ापुर

अमर शहीद रवि सिंह के घर सांत्वना देने विनीत सिंह

जिला पंचायत से अमर शहीद द्वार एवं स्मारक बनवाने की घोषणा

बारामुला में आतंकियों से लोहा लेते हुए शहीद हुए रवि सिंह के जिगना स्थित गौरा गांव परिजनों को सांत्वना देने पूर्व एमएलसी श्याम नारायण सिंह उर्फ विनीत सिंह पहुंचे। उन्होंने अमर शहीद रवि सिंह की शहादत को नमन किया। इस मौके पर उन्होंने जिला पंचायत की तरफ से अमर शहीद रवि सिंह के याद में मनकठा गौरा मार्ग पर अमर शहीद के नाम पर एक गेट तथा शहीद के अंत्येष्टि स्थल पर रामलीला मैदान में एक स्मारक भवन एवं मूर्ति लगवाने की घोषणा कि। इसके साथ ही मनकठा गौरा संपर्क मार्ग की टूटी सड़क को भी जिला पंचायत से मरम्मत करवाने की बात की।गौरतलब हो कि इस मौके पर उन्होंने जिला पंचायत के जेई को तुरंत प्राक्कलन बनाकर जल्द से जल्द उक्त कार्य को शुरू करवाने का निर्देश भी दिया ।साथ ही दोनों स्थानों पर लोगों के साथ जाकर स्थलीय निरीक्षण भी किया। पूर्व एमएलसी विनीत सिंह ने कहा कि अमर शहीद रवि सिंह जी के लिए जितना भी किया जाए कम है। उनकी शहादत पर पूरे देश पर गर्व है। इस मौके पर उनके साथ जिला पंचायत सदस्य वसीम अहमद जिला पंचायत सदस्य सुरेश बिंद संजय सिंह गहरवार आयुष सिंह आदि लोग भी उपस्थित थे।

 

जौनपुर

विकसित गाँव देश की धरोहर : चंद्रशेखर सिंह चौहान,

जौनपुर जलालपुर  विकसित गाँव से ही विकसित जनपद एवं विकसित जनपद से ही विकसित देश की कल्पना की जा सकती है ऐसा कहना है मकरा गाँव के प्रधान पद प्रत्याशी चंदशेखर सिंह चौहान का जिन्होंने  गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर समस्त  क्षेत्रवासियों एवं  ग्राम वासियों को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं  देते हुए  कहा कि इस बार जनता ने उन्हें मौका दिया तो वे उनकी हर बातो पर खरा उतरने की कोशिश करेंगे एव गाँव मे लिंक हर रोड एवं खड़ंजों का पुनर्निर्माण कराते हुए गाँव का सम्पूर्ण विकास ही उनकी प्रथम प्राथमिकता होगी।

इलाहाबाद

यूपी बार कौंसिल चेयरमैन के दिए गए बयान पर इलाहाबाद

इलाहाबाद मेरठ की दुरी ज्यादा है अगर मेरठ में नया बेंच खुलेगा तो आम जनता को फायदा होगा। हरिशंकर सिंह

एशिया के सबसे बड़े हाईकोर्ट, इलाहाबाद हाईकोर्ट में बेंच के बंटवारे को लेकर बीते कई सालों से विवाद चल रहा है।कभी चुनावी मौसम में राजनीतिक दलों द्वारा बेंच के बंटवारे की बात कही जाती है। तो कभी क्षेत्रीय अधिवक्ताओं द्वारा बांटने की मांग उठती रही है। वहीं एक बार फिर हाईकोर्ट के बेंच के बंटवारे की मांग के खिलाफ अधिवक्ता सड़क पर उतर आए हैं।

लंबे समय से पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हाई कोर्ट की बेंच बनाए जाने की मांग उठ रही है। जिसका विरोध इलाहाबाद उच्च न्यायालय के अधिवक्ताओं द्वारा किया जाता रहा है। अभी भी लगातार इलाहाबाद उच्च न्यायालय के अधिवक्ता इस बात पर अड़े हुए हैं कि इलाहाबाद उच्च न्यायालय कि अन्य और कोई बेंच नहीं बनाई जानी चाहिए। इस मुद्दे पर राजनीति भी खूब जम के होती है। मौजूदा यूपी बार काउंसिल अध्यक्ष हरिशंकर सिंह के दिए गए बयान पर इलाहाबाद हाईकोर्ट के अधिवक्ता बार के अध्यक्ष के खिलाफ ही आवाज बुलंद कर रहे हैं।

गौरतलब है कि बीते दिनों एक बयान में यूपी बार के अध्यक्ष हरिशंकर सिंह ने पश्चिमी यूपी में बेंच बनाये जाने का समर्थन करते हुए बयान दिया कि कोर्ट की एक और बेंच होनी चाहिए। उनके इस बयान पर इलाहाबाद हाईकोर्ट के अधिवक्ताओं ने भयंकर आक्रोश देखने को मिल रहा है। इलाहाबाद हाईकोर्ट के नाराज अधिवक्ताओं ने अध्यक्ष हरिशंकर सिंह के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया और उनका पुतला हाईकोर्ट के बाहर जलाया और मांग करते हुए कहा कि हरिशंकर सिंह अपने दिए गए बयान को वह वापस लें माफी मांगे।

बेंच बनाना राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री का क्षेत्राधिकार है ना कि यूपी बार कौंसिल का, मिडिया के पुछे गयें सवाल पर कहा बेंच खुलने से हमें कोई परेशानी नहीं

क्लाउन टाइम्स ने जब उत्तर प्रदेश बार कौंसिल के अध्यक्ष हरिशंकर सिंह से संपर्क किया तो उन्होंने कहा कि पिछले दिनों मैं मेरठ में वकीलों की अनुशासन समिति की सुनवाई करने के लिए गया था तो वहां पर मौजूद मीडिया द्वारा पूछे गए सवाल में कि उत्तर प्रदेश में नया बेंच खुल जाए तो आपको क्या परेशानी है। हमने कहा हमें कोई परेशानी नहीं है क्योंकि यह काम तो राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री के क्षेत्राधिकार का है ना कि उत्तर प्रदेश बार कौंसिल के चेयरमैन के क्षेत्राधिकार का। मिडिया ने कहा कि इलाहाबाद और मेरठ की दुरी बहुत है। तो मैंने कहा अच्छी तो बात है यहां नया बेंच खुल जायेगा तो आम जनता को सहायता मिलेगी। हमने तो आम जनता के हित की बात कहीं है। अगर कोई विरोध कर रहा है तो मैं क्या करूं।

अपना प्रदेश

देश/विदेश

खेल

तीन दिवसीय अनकामन जिला स्तरीय कैरम प्रतियोगिता का

वाराणसी जिला कैरम एसोसिएशन और जीवनदीप चैरिटेबल ट्रस्ट के तत्वावधान में सिंह निकेतन मलदहिया में आज से शुरू तीन दिवसीय अनकामन जिला स्तरीय कैरम प्रतियोगिता के पहले दिन आज खेले गये पुरुष वर्ग के एकल मुकाबले मे व्योम प्रकाश मानव ने सफेद सेंचुरी के साथ जमुनाधर गुप्ता को 25=9,25=13 से हराकर अन्तिम आठ में प्रवेश किया तो वहीं महिला युगल में अंजली और मन्तसा ने कामना और तूलिका की जोड़ी को 25=9,23=12 से पराजित कर फाईनल में प्रवेश किया । आज खेले गये पुरुष वर्ग के अन्य एकल मैचों में अशोक कुमार सिंह ने रिषभ कुमार को 25=025=5 से, शिवदयाल यादव ने विनोद यादव को 15=16,25=3 और 21=11 से , अश्वनी मोर्या ने प्रियान्शू को 25=16,23=7 से , प्रभुदयाल यादव ने सूरज प्रसाद को 20=025=13 से, और कृष्णदयाल यादव ने नूरैन खान को 17=25,25=2 और 25=17 से हराकर अन्तिम आठ में प्रवेश किया तो वहीं महिला वर्ग के एकल मुकाबले में में रिषिता केशरी ने दीपाली यादव को 24=13, 25,17 से पराजित कर अन्तिम आठ में प्रवेश किया । इससे पूर्व प्रयोगिता का भब्य उद्घाटन आल इंडिया कैरम फेडरेशन के एसोसिएट वाइस प्रेसिडेंट और जीवनदीप शिक्षण संस्थान के चेयरमैन डाक्टर अशोक सिंह ने कैरम बोर्ड पर स्ट्राइक करने बाद समारोह को सम्बोधित करते हुये कहा कि कैरम खेल और खिलाड़ियों की उन्नति एवं विकास के लिये वाराणसी कैरम एसोसिएशन जिस तरह दशकों से लगातार सक्रिय है उसकी जितनी प्रसन्शा की जाये वह कम है। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते उत्तर प्रदेश कैरम एसोसिएशन के अध्यक्ष बैजनाथ सिंह ने कहा कि एक साल के बाद ये फिजिकल प्रतियोगिता सभ्भव हो पाई है जिसके पूर्ण होने मे जीवनदीप चैरिटेबल ट्रस्ट का बहुत बड़ा सहयोग है । यदि सब कुछ ठीक रहा तो जून महीने के मध्य में वाराणसी कैरम एसोसिएशन, जीवनदीप शिक्षण संस्थान और उत्तर प्रदेश कैरम एसोसिएशन को फिर एक और नेशनल प्रतियोगिता की मेजबानी मिल सकती है। अतिथियों का स्वागत आयोजन सचिव अश्वनी चक्रवाल और मैचों का संयोजन इन्टरनेशनल रेफरी रमेश वर्मा ने और धन्यवाद ज्ञापन जिला कैरम एसोसिएशन के अध्यक्ष विजयशंकर मेहता ने किया, प्रतियोगिता की नियमावली तथा तकनीकी दिशा निर्देश टूर्नामेंट के चीफ रेफरी सरदार रणबीर सिंह ने दिया । इस अवसर पर छावनी परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष शैलेन्द्र सिंह, जिला कैरम एसोसिएशन के उपाध्यक्ष अशोक कुमार पाण्डेय सहित एस.के.श्रीवास्तव, रवि आर्या, अभिषेक विश्वकर्मा, सन्दीप यादव ,ब्योम प्रकाश मानव, विनोद यादव , गौरव गुप्ता सुमन गिनोडिया आदि सहित तमाम कैरम खिलाड़ी उपस्थित रहे ।  

राजनीति

समाजवादी पार्टी ने एसएसपी को दिया ज्ञापन

समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं व नेताओं पर लगातार फर्जी मुकदमे लगाकर पुलिसीया उत्पीड़न के खिलाफ आज समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं व नेताओं के साथ जिला अध्यक्ष सुजीत यादव लक्कड एंव महानगर अध्यक्ष विष्णु शर्मा के नेतृत्व में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित पाठके से मिलकर ज्ञापन दिया व समस्त प्रकरण की निष्पक्ष जांच करने की मांग की। विगत दिनों छात्र नेता राहूल सोनकर के उपर भी फर्जी मुकदमा लिखा गया था जो अभी तक नही हटाए जाने से सपा कार्यकर्ताओं मे रोष है। पुन: सिगरा थाना प्रभारी ने समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता राकेश सिंह चुनमुन के पुत्र इंजीनियर विवेक सिंह पर फर्जी हरिजन एक्ट का मुकदमा लगाकर उत्पीड़न का कार्य कर रही हैं। समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष सुजीत यादव ने बताया कि विपक्ष के इशारे पर लगातार सपा कार्यकर्ताओं का वाराणसी पुलिस फर्जी तरीके से मुक़दमा लगाकर उत्पीड़न कर रही हैं । सपा महानगर अध्यक्ष विष्णु शर्मा ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित पाठक से कहा कि पुलिस सपा कार्यकर्ताओं के साथ राजनीतिक द्वेष की भावना से प्रेरित होकर कार्य कर रही इस पर अंकुश लगाया जाए। समस्त प्रकरण से समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को भी अवगत कराया गया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित पाठक ने सपा नेताओं की शिक़ायत को सुनने के पश्चात समस्त प्रकरण संज्ञान में लेते हुए जांच कर उचित कार्रवाई का भरोसा दिया। वरिस्ठ पुलिस अधीक्षक से मिलने वालों में प्रमुख रूप से जिलाध्यक्ष सुजित यादव ( लक्कड़), महानगर अध्यक्ष विष्णु शर्मा , महानगर महासचिव जितेन्द्र यादव,वरिष्ठ नेता आत्मा राम यादव,वरिष्ठ अधिवक्ता प्रेम शंकर पांडेय, डॉ.उमाशंकर यादव,जिला महासचिव आनंद मौर्या, पूर्व मंत्री मनोज राय धुपचंडी,राधाकृष्ण संजय यादव,डॉ.ओपी सिंह, नथुनी यादव,राकेश सिंह चुनमुन,ओपी पटेल,नन्हे जायसवाल,विवेक सिंह, तनुज पांडेय आदि लोग उपस्थित रहे।  

जुर्म

गैंगेस्टर एक्ट के आरोपी पंकज सिंह डब्लू की कुर्क स

जिलाधिकारी के निर्देश पर गैंगेस्टर एक्ट में कुर्क पंकज सिंह डब्लू की कुर्क सम्पति को रिलीज करने का आदेश कोर्ट ने मंडुआडीह पुलिस को दिया है। विशेष न्यायाधीश (गैंगेस्टर एक्ट) जनार्दन प्रसाद यादव की अदालत ने पंकज सिंह डब्लू की मां सुधा सिंह व पत्नी रूबी सिंह की ओर से पुलिस द्वारा गैंगेस्टर एक्ट में कुर्क सम्पति रिलीज करने संबंधी दी गयी याचिका पर सुनवाई के बाद दिया। अदालत में सुधा सिंह व रूबी सिंह ने अपने अधिवक्ता अनुज यादव, नरेश यादव व विकास सिंह की ओर से दी गयी याचिका में कहा कि जिला मजिस्ट्रेट के 25 अप्रैल 2018 को आदेश दिया था कि मंडुआडीह निवासी पंकज सिंह डब्लू का एक आपराधिक गिरोह है। जिसके बल पर वह आर्थिक एवं भौतिक लाभ के लिए रंगदारी वसूलने, भाड़े पर हत्या करने, प्राणघातक हमला करने के साथ आमजनमानस में आतंक फैलाने का कार्य करता है। अपनी आपराधिक गतिविधियों से उसने काफी सम्पति अर्जित की है। उक्त आपराधिक गतिविधियों से अर्जित धनराशि से उसने अपने पिता राम बालक सिंह, मां सुधा सिंह, पत्नी रूबी सिंह, भाई व भाभी के नाम से भूमि, जमीन व वहां क्रय किया है। उसके खिलाफ वर्ष 2002 से 2018 के बीच विभिन्न धाराओं के तहत 15 मुकदमे दर्ज हैं। ऐसे में उसकी समस्त सम्पति व वाहन को कुर्क करने का आदेश दिया गया था। इस आदेश पर मंडुआडीह पुलिस ने पंकज सिंह डब्लू की समस्त सम्पति कुर्क कर लिया। इस आदेश के खिलाफ सुधा सिंह व रूबी सिंह ने अदालत में अपील दाखिल की। ⚡अदालत में बचाव पक्ष की ओर से अधिवक्ता अनुज यादव, नरेश यादव व विकास सिंह ने दलील दिया कि जिला मजिस्ट्रेट ने मंडुआडीह पुलिस द्वारा गलत तथ्यों पर दिए गये आख्या के आधार पर सम्पति व वाहन कुर्क करने का आदेश दिया है। गैंग चार्ट में जिन मुकदमों का हवाला दिया गया हैं, उसमें आरोपित पंकज सिंह डब्लू को अदालत ने बरी कर दिया है। साथ ही पंकज सिंह के पिता सेवानिवृत्त सरकारी कर्मचारी हैं। उन्होंने अपने नौकरी काल मे अर्जित धन से उक्त संपत्तियों को अपनी पत्नी व बहु के नाम से क्रय किया है। अपने कथन के संबंध में दस्तावेजी साक्ष्य भी प्रस्तुत किये गए। अदालत ने साक्ष्यों के अवलोकन व बचाव पक्ष की दलील सुनने के बाद कुर्क सम्पति को रिलीज करने का आदेश दिया।  

मनोरंजन