MENU
Breaking News
Breaking News Live T.V.

पूर्वांचल

चंदौली

पीएम मोदी के जन्मदिन अवसर पर आयोजित सेवा सप्ताह मे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 70वें जन्मदिन के अवसर पर आयोजित सेवा सप्ताह कार्यक्रम के तहत मंगलवार को विकासखंड धानपुर ब्लाक सभागार में जरूरतंदों को चश्मा का वितरण किया गया। 150 लोगों का पंजीकरण कर 135 को चश्मा वितरित किया गया। सैयदराजा विधायक सुशील सिंह ने कहा कोरोना संकट को देखते हुए कार्यक्रम सीमित है। एक सप्ताह तक चलने वाले सेवा सप्ताह का मुख्य उद्देश्य ज्यादा से ज्यादा लोगों की कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए सेवा की जाए। इस अवसर पर बीडीओ सुशील मिश्र, सत्यवान मौर्य, हरीनाथ यादव, अजय सिंह, अरूण जयसवाल, सोनू तिवारी, अरविंद मिश्रा, राणा प्रताप सिंह, गुड्डू सिंह प्रधान, विमल सिंह, सर्वजीत सिंह मौजदू थे।

मिर्ज़ापुर

अमर शहीद रवि सिंह के घर सांत्वना देने विनीत सिंह

जिला पंचायत से अमर शहीद द्वार एवं स्मारक बनवाने की घोषणा

बारामुला में आतंकियों से लोहा लेते हुए शहीद हुए रवि सिंह के जिगना स्थित गौरा गांव परिजनों को सांत्वना देने पूर्व एमएलसी श्याम नारायण सिंह उर्फ विनीत सिंह पहुंचे। उन्होंने अमर शहीद रवि सिंह की शहादत को नमन किया। इस मौके पर उन्होंने जिला पंचायत की तरफ से अमर शहीद रवि सिंह के याद में मनकठा गौरा मार्ग पर अमर शहीद के नाम पर एक गेट तथा शहीद के अंत्येष्टि स्थल पर रामलीला मैदान में एक स्मारक भवन एवं मूर्ति लगवाने की घोषणा कि। इसके साथ ही मनकठा गौरा संपर्क मार्ग की टूटी सड़क को भी जिला पंचायत से मरम्मत करवाने की बात की।गौरतलब हो कि इस मौके पर उन्होंने जिला पंचायत के जेई को तुरंत प्राक्कलन बनाकर जल्द से जल्द उक्त कार्य को शुरू करवाने का निर्देश भी दिया ।साथ ही दोनों स्थानों पर लोगों के साथ जाकर स्थलीय निरीक्षण भी किया। पूर्व एमएलसी विनीत सिंह ने कहा कि अमर शहीद रवि सिंह जी के लिए जितना भी किया जाए कम है। उनकी शहादत पर पूरे देश पर गर्व है। इस मौके पर उनके साथ जिला पंचायत सदस्य वसीम अहमद जिला पंचायत सदस्य सुरेश बिंद संजय सिंह गहरवार आयुष सिंह आदि लोग भी उपस्थित थे।

 

जौनपुर

जैतपुरा दोहरे हत्याकांड के आरोपित विवेक सिंह 'कट्ट

वाराणसी जनपद के जैतपुरा थाना क्षेत्र में अधिवक्ता समेत दो लोगों की हत्या में फरार चल रहे आरोपित विवेक सिंह कट्टा ने सोमवार को जौनपुर के एससी/एसटी कोर्ट में एक पुराने मामले में समर्पण कर दिया। अदालत ने उसे न्यायिक अभिरक्षा में लेकर जेल भेज दिया। बतादें कि बीते 28 अगस्त को जैतपुरा थाना क्षेत्र के चौकाघाट स्थित काली मंदिर के समीप पूर्वाह्न में अज्ञात बाइक सवार बदमाशों ने हुकुलगंज निवासी अधिवक्ता अभिषेक सिंह 'प्रिंस' समेत दो लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। इस घटना में एक व्यक्ति भी गंभीर रूप से घायल हो गया था। इस मामले में पुलिस ने शिवपुर निवासी विवेक सिंह कट्टा समेत कई लोगों को आरोपित बनाया था। तभी से वह फरार चल रहा था। इस बीच पुलिस के बढ़ते दबाव को देखते हुए आरोपित विवेक सिंह ने जौनपुर जनपद के एक पुराने एससी/एसटी के मामले में पुलिस को चकमा देते हुए समर्पण कर जेल चला गया।

बतातें चलें कि मारपीट व आपराधिक गतिविधियों में संलिप्त होने के कारण लोहगाजर (जौनपुर) निवासी विवेक सिंह शिवपुर थाना क्षेत्र के लक्ष्मणपुर इलाके में किराये के मकान में रह रहा है। उसे यूपी कालेज से वर्ष 2007 में निष्कासित कर दिया गया था। इस दौरान विवेक सिंह के खिलाफ कई थानों में मुकदमा भी दर्ज हुआ।

इलाहाबाद

यूपी बार कौंसिल चेयरमैन के दिए गए बयान पर इलाहाबाद

इलाहाबाद मेरठ की दुरी ज्यादा है अगर मेरठ में नया बेंच खुलेगा तो आम जनता को फायदा होगा। हरिशंकर सिंह

एशिया के सबसे बड़े हाईकोर्ट, इलाहाबाद हाईकोर्ट में बेंच के बंटवारे को लेकर बीते कई सालों से विवाद चल रहा है।कभी चुनावी मौसम में राजनीतिक दलों द्वारा बेंच के बंटवारे की बात कही जाती है। तो कभी क्षेत्रीय अधिवक्ताओं द्वारा बांटने की मांग उठती रही है। वहीं एक बार फिर हाईकोर्ट के बेंच के बंटवारे की मांग के खिलाफ अधिवक्ता सड़क पर उतर आए हैं।

लंबे समय से पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हाई कोर्ट की बेंच बनाए जाने की मांग उठ रही है। जिसका विरोध इलाहाबाद उच्च न्यायालय के अधिवक्ताओं द्वारा किया जाता रहा है। अभी भी लगातार इलाहाबाद उच्च न्यायालय के अधिवक्ता इस बात पर अड़े हुए हैं कि इलाहाबाद उच्च न्यायालय कि अन्य और कोई बेंच नहीं बनाई जानी चाहिए। इस मुद्दे पर राजनीति भी खूब जम के होती है। मौजूदा यूपी बार काउंसिल अध्यक्ष हरिशंकर सिंह के दिए गए बयान पर इलाहाबाद हाईकोर्ट के अधिवक्ता बार के अध्यक्ष के खिलाफ ही आवाज बुलंद कर रहे हैं।

गौरतलब है कि बीते दिनों एक बयान में यूपी बार के अध्यक्ष हरिशंकर सिंह ने पश्चिमी यूपी में बेंच बनाये जाने का समर्थन करते हुए बयान दिया कि कोर्ट की एक और बेंच होनी चाहिए। उनके इस बयान पर इलाहाबाद हाईकोर्ट के अधिवक्ताओं ने भयंकर आक्रोश देखने को मिल रहा है। इलाहाबाद हाईकोर्ट के नाराज अधिवक्ताओं ने अध्यक्ष हरिशंकर सिंह के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया और उनका पुतला हाईकोर्ट के बाहर जलाया और मांग करते हुए कहा कि हरिशंकर सिंह अपने दिए गए बयान को वह वापस लें माफी मांगे।

बेंच बनाना राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री का क्षेत्राधिकार है ना कि यूपी बार कौंसिल का, मिडिया के पुछे गयें सवाल पर कहा बेंच खुलने से हमें कोई परेशानी नहीं

क्लाउन टाइम्स ने जब उत्तर प्रदेश बार कौंसिल के अध्यक्ष हरिशंकर सिंह से संपर्क किया तो उन्होंने कहा कि पिछले दिनों मैं मेरठ में वकीलों की अनुशासन समिति की सुनवाई करने के लिए गया था तो वहां पर मौजूद मीडिया द्वारा पूछे गए सवाल में कि उत्तर प्रदेश में नया बेंच खुल जाए तो आपको क्या परेशानी है। हमने कहा हमें कोई परेशानी नहीं है क्योंकि यह काम तो राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री के क्षेत्राधिकार का है ना कि उत्तर प्रदेश बार कौंसिल के चेयरमैन के क्षेत्राधिकार का। मिडिया ने कहा कि इलाहाबाद और मेरठ की दुरी बहुत है। तो मैंने कहा अच्छी तो बात है यहां नया बेंच खुल जायेगा तो आम जनता को सहायता मिलेगी। हमने तो आम जनता के हित की बात कहीं है। अगर कोई विरोध कर रहा है तो मैं क्या करूं।

अपना प्रदेश

देश/विदेश

खेल

आईपीएल के ऐसे बल्लेखबाज जिन्हों ने जड़े हैं रिकॉर्

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) इस बार 19 सितंबर से यूएई की सरजमीं पर शुरू होने को है। इंडियन प्रीमियर लीग का नाम सुनते ही दिलोदिमाग में एक मंजर सा बन जाता है जिसमें सिर्फ चौकों और छक्‍कों की बरसात देखने को मिलती है। सभी देशी और विदेशी बल्‍लेबाज, ऑलराउंडर खिलाडी अपनी छमता से बढकर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन मैदान में करते हैं और दर्शकों को मनोरंजित करते हैं। लंबे-लंबे छक्‍कों और बेहतरीन प्रतिभा के इस खेल के महापर्व का सभी को इंतजार रहता है। हालांकि, दर्शक इस बार टीवी और स्मार्टफोन के जरिए ही बड़ी हिट्स का लुत्फ उठा पाएंगे, क्योंकि कोरोना वायरस महामारी की वजह से आइपीएल 2020 में कम से कम शुरुआत में दर्शकों को स्टेडियम आने की अनुमति नहीं है। कुछ ऐसे खिलाडी जो आइपीएल के 12 के इतिहास में सबसे ज्यादा छक्के जड़े हैं। इन 10 खिलाड़ियों ने मिलकर आइपीएल में 2017 छक्के ठोके हैं। अकेले वेस्टइंडीज के तूफानी बल्लेबाज क्रिस गेल 300 से ज्यादा छक्के आइपीएल में जड़ चुके हैं। इतना ही नहीं, वे आइपीएल के इतिहास में सबसे ज्यादा छक्के जड़ने वाले इकलौते बल्लेबाज हैं। क्रिस गेल ने अब तक खेले आइपीएल के 125 मैचों में 326 छक्के जड़े हैं। एक पारी में भी सबसे ज्यादा 17 छक्के लगाने का उनका रिकॉर्ड है। इंडियन प्रीमियर लीग में सबसे ज्यादा छक्के मारने वालों की इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर साउथ अफ्रीकाई दिग्गज बल्‍लेबाज एबी डिविलियर्स हैं, जिन्होंने 154 मैचों में 212 छक्के जड़े हैं। लिस्ट में तीसरा नंबर महेंद्र सिंह धोनी का आता है, जिन्होंने अब तक आइपीएल के इतिहास में 209 छक्के जड़े हैं। एमएस धौनी आइपीएल में सबसे पहले 200 छक्के पूरे करने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी हैं, जबकि 200 या इससे ज्यादा छक्के उनके अलावा डिविलियर्स और क्रिस गेल ने जड़े हैं। सिक्‍सर किंग की लिस्‍ट में रोहित शर्मा, भारत के एमएस धोनी से ज्यादा पीछे नहीं हैं, लेकिन वे अभी तक 188 मैचों में 194 छक्के जड़ पाए हैं।

राजनीति

मनोज सिन्हा को जम्मू-कश्मीर का उप राज्यपाल बनाये ज

पूर्वांचल के विकास पुरुष कहें जानें वाले पूर्व केन्द्रीय रेल राज्य मंत्री व संचार मंत्री मनोज सिन्हा को जम्मू-कश्मीर का उप राज्यपाल बनाए जाने पर भाजपा कार्यकर्ताओ में खुशी की लहर दौड़ गई। इस खुशी के मौके पर भाजपा नेता प्रभात सिंह मिंटू ने कार्यकर्ताओ को मिठाई खिलाकर खुशी का इजहार किया। इस मौके पर प्रभात सिंह मिंटू ने कहा कि रेल राज्यमंत्री रहते हुए मनोज सिन्हा ने अपने कार्यकाल में पूर्वांचल का बहुमुखी विकास करने के कारण में लोकप्रिय हो गए थे और उनके नाम के साथ विकास पुरुष का नाम भी जुड़ गया था, लेकिन गाजीपुर से लोकसभा का चुनाव हारने के बाद पूर्वांचल वासियों को काफी निराशा हुई थी। लोग निराशा के बीच यब बातें करने लगे थे कि पूर्वांचल में विकास की गंगा बहाने के बाद भी उन्हें हार का मुंह क्यों देखना पड़ा। फिर भी लोगों को यह उम्मीद थी कि उनकी पद-प्रतिष्ठा बनी रहेगी और हुआ भी कुछ ऐसा ही। श्री मिंटू ने कहा कि मनोज सिन्हा को केन्द्रीय नेतृत्व द्वारा जम्मू-कश्मीर का उपराज्यपाल नियुक्त किया गया। इससे पूर्वांचल सहित पूरे  देशवासियों में खुशी की लहर दौड़ गई। इस अवसर पर, जे. पी. दुबे, डॉ राकेश सिंह, पवन सिंह, हौसला पांडेय, विजय मुलायम पाल, सुशील कुमार रघु सिंह बाबा यादव, लव मिश्रा, राजेश चौरसिया, अजय पटेल, अतुल रावत आदि उपस्थित रहे।

जुर्म

बलवंत सिंह हत्याकांड: फिर मिलीं एसएसबी ग्रुप के नि

वाराणसी अपर सत्र न्यायाधीश (कोर्ट संख्या 6) पशुपतिनाथ मिश्रा की अदालत ने सारनाथ के बिल्डर बलवंत सिंह हत्याकांड में जेल भेजे गए आरोपी पंकज चौबे के उस आवेंदन को दूबारा खारिज कर दिया जिसमें रामगोपाल सिंह, रमेश प्रताप और जितेंद्र सिंह को हत्यारोपी बनाये जाने का अनुरोध किया गया था। अदालत में इस हत्याकांड में जेल भेजे गए आरोपी पंकज पर बिल्डर कम्पनी के प्रबंध निदेशक रामगोपाल सिंह के सारनाथ स्थित आवास पर बीते 20 अक्टूबर को व्यावसायिक पार्टनर बलवंत सिंह को लाइसेंसी पिस्टल से हत्या का आरोप है। इस मामले में आरोपी पंकज को लाइसेंसी पिस्टल और कारतूस के साथ गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। आरोपी ने जेल से दिए आवेदन में कहा था कि रामगोपाल सिंह ने अलग अलग फोन करके घर बुलाकर हिसाब किताब के नाम पर विवाद होने पर बलवंत सिंह की हत्या का आरोप रामगोपाल व दो पर लगाया था। अदालत में इस आवेंदन का विरोध करते हुए फौजदारी के वरिष्ठ अधिवक्ता अनुज यादव व बिनीत सिंह व बृजलाल सिंह यादव ने दलील दी कि इस मामले में आरोप पत्र का कोर्ट ने संज्ञान ले लिया है। जिसमें प्रथम दृष्टया आरोपी पंकज द्वारा ही अपराध की बात कही गई है। अदालत ने कहा कि इसी घटना के सम्बंध में पुनः विवेचना हेतु पुलिस को प्रेषित किया जाना विधि सम्मत प्रतीत नही होता। इस मामले में पीड़ित पक्ष के पुत्र अनुराग सिंह के ही तहरीर पर विवेचक ने आरोपी के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की गई है और कोर्ट ने संज्ञान लिया है ऐसे में आरोपी के आवेंदन को खारिज किया जाता है।  

मनोरंजन